श्रीमती वसुन्धरा राजे
माननीया मुख्यमंत्री, राजस्थान
जन्म और मृत्यु रजिस्ट्रीकरण अधिनियम, 1969 लागू होने के बाद देश में जन्म, मृत्यु और मृत जन्म की घटनाओं का पंजीयन अनिवार्य हो गया है। अधिनियम के अंतर्गत राज्यों में नियुक्त मुख्य रजिस्ट्रार कार्यपालक प्राधिकारी है और राज्यों में सांख्यिकी रिपोर्ट के संकलन और रजिस्ट्रीकरण के कार्य के लिये उत्तरदायी है। रजिस्ट्रीकरण के कार्य में कागजी कार्यवाही कम करने, समक अभिलेख के हस्तांतरण में तेजी लाने और प्रणाली को आधुनिक तकनीकों के प्रयोग के अनुरूप बनाने की कड़ी में आई.एस.एस.पी. परियोजना के अंतर्गत उपलब्ध वित्तीय प्रावधानों से जन्म-मृत्यु पंजीयन का यह सॉफ्‍टवेयर तैयार कराया गया है। इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से पंजीयन के महत्वपूर्ण प्रावधानों, प्रक्रिया, आवेदन पत्र, प्रमाण पत्रों का उपयोग एवं महत्व, जारी प्रमाण पत्र की प्रतिलिपि आदि जानकारियॉ आमजन के लिए उपलब्ध हो सकेगी एवं विभिन्न तरह की रिपोर्ट एवं सूचनायें विभागीय उपयोग हेतु उपलब्ध हो सकेगी।
हमारा लक्ष्य शत प्रतिशत पंजीकरण
पंजीयन जनता ओर सरकार के बीच की एक कड़ी है
बच्चे के नाम वाला जन्म प्रमाण पत्र ही पूरा है
प्रत्येक जन्म एवं मृत्यु का पंजीकरण सुनिश्चित करें
पंजीयन जनता एवं सरकार का संयुक्त प्रयास
जन्म-मृत्यु का पंजीकरण आपके अपने हित में है
जन्म-मृत्यु का पंजीकरण करवाना कानूनन अनिवार्य है
पहचान, आने वाले कल की, बीते पल की
Regarding Digitisation and scanning of Birth-Death record.
Regarding Pehchan
puranerecord bhi pehchan pe search kie ja sakte he kia ashok kumawat, 30/08/2014
जन्म ऍव म्रत प्रमाण पत्र मे हस्ताक्ष्र्र डिजिट्ल मय कोड होना चाहिऍ प्रमोद कुमार जागिड्, 30/08/2014
प्रसार प्रचार होना बहुत जरुरी क्योकि इसके बिना आमजन समय पर पजिकरण नही करवाते govindsingh choudhariy, 25/08/2014
sir there should be an option of mother and father in main page for find registration . thanks. DEVENDRA KUMAR SHARMA , 21/08/2014
पेहचान वेबपोर्टल एक सराहनीय कदम है नागरिको को सुलभ सुविधा है पूरण वैष्‍णव, 13/08/2014
very nice state portal raj. ishwar gurjar prasedent, 12/08/2014
ग्राम पंचायत स्तर पर जन्म व म्रतु प्रमाण पत्र जारी होने के बाद रद्द करने का ऑप्सन होना चाहिए ashok kumawat, 12/07/2014
तहसील से जारी होने वाले आज्ञा-पत्र का प्रपत्र पुरे राजस्थान मे एक समान जारी करावे हरजीराम नेहरा, 11/07/2014
इसमे सुधार का ओफसन होना चाहिये ओर दुसरि प्रती प्रिट होनी चाहिये Raja RamChoudhary, 11/07/2014
सभी ग्राम पंचायतो में इन्‍टरनेट कि व्‍यवस्‍था जरूरी है नैट के बिना इस का लाभ नही मिल सकता सतपाल बिशनोई, 10/07/2014
Designed, Developed and Hosted by National Informatics Centre, Rajasthan
Nodal Officer: Joint Director(Vital), Directorate of Economics and Statistics, Rajasthan.
Helpline (Toll Free) : 18001806785 jdvital[dot]des[at]rajasthan[dot]gov[dot]in